भारतीय भाषा केंद्र, जेएनयू में शोकसभा

prabhsh joshi in jnuभारतीय भाषा केंद्र के विद्यार्थियों और अध्यापकों ने कल एक स्मृति सभा का आयोजन किया, जिसमें हिंदी के महान पत्रकार और जनसत्ता के पूर्व संपादक प्रभाष जोशी के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया। केंद्र के अध्यक्ष प्रोफ़ेसर चमन लाल ने उन्हें भावभीनी श्रद्धां‍जलि प्रस्तुत करते हुए उनके साथ जनसत्ता में बिताये दिनों को याद किया और बताया कि उन्होंने हिंदी पत्रकारिता को एक नयी दिशा और दशा दी। जनसत्ता द्वारा जनता की आम भाषा में आम जनता की समस्याओं को उठा कर उन्होंने हिंदी पत्रकारिता की स्वतंत्रता संग्राम की परंपरा को पुनर्जीवित किया। डॉ अनवर आलम ने प्रभाष जोशी द्वारा जेएनयू के जनतांत्रिक चरित्र की रक्षा में किये उनके योगदान को रेखांकित किया, जब सांप्रदायिक ताक़तों ने फहमीद रियाज़ कि कविता कि बहाने जेएनयू पर हमले किये थे। सभा में उन्हें एक मिनट मौन रख कर श्रद्धांजलि भेंट की गयी।

You may also like...