माननीय महोदय, इंटरनेट पर पोर्नोग्राफी बंद करवाएं…

राज्‍यसभा में 18 दिसंबर को कई मुद्दों पर बहस हुई। मज़दूरों, किसानों पर बहस हुई। सिंगूर-चंदौली की बात हुई। लेकिन आख़‍िर में सांसद रामप्रकाश ने एक छोटा सा भाषण इंटरनेट पर दिया। इस भाषण का ड्यूरेशन दो मिनट भी नहीं था – लेकिन क्‍योंकि ये इंटरनेट से जुड़ा था, लिहाज़ा हम इसका टेक्‍स्‍ट वेब पाठकों के सुपुर्द कर रहे हैं : मॉडरेटर

porn on net

डॉ राम प्रकाश (हरियाणा) : महोदय, इंटरनेट पर बढ़ रही नग्नता (पोर्नोग्राफी) एक अत्‍यंत गंभीर मसला है। यह अश्‍लीलता भारतीय जीवन मूल्यों एवं संस्कृति के नितांत विरुद्ध है। स्थिति यह है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी को भी उपहास का विषय बनाने से परहेज नहीं किया गया था। सभ्य समाज इंटरनेट के माध्यम से घर-घर तक पहुंच रही अश्‍लील सामग्री से व्यथित एवं चिंतित है। इस पोर्नोग्राफी का न केवल बच्चों पर कुप्रभाव पड़ रहा है, अपितु समस्त समाज में बुराई फैल रही है। भारत के कई तटवर्ती राज्यों एवं महानगरों में सेक्‍स पर्यटन के अभिप्राय से विदेशी निरंतर आ रहे हैं। इतना पानी सिर से गुजर गया है कि अब इंटरपोल अपने 188 सदस्य देशों के सहयोग से ऐसी वेबसाइट ब्लॉक करने तथा उन्हें तैयार करने वालों का पता लगाने की योजना बनाने की सोच रही बतायी जाती है। मेरा अनुरोध है कि भारत सरकार इस विषय में सकारात्मक पग उठाये और एक अलग शाखा स्थापित कर ऐसी पोर्नोग्राफी साइटों की सूची तैयार कर इंटरपोल को सूचित करे और उन्हें ब्लॉक करवाये।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *