रिपोर्टिंग में जनहित का खयाल रखें : ए संदीप

भोपाल में द संडे इंडियन ने कराया मीडिया पर सेमिनार

मीडिया में सिर्फ नकारात्मक खबरों का जोर नहीं रहे, बल्कि अच्छी खबरों की जानकारी भी मीडिया में आनी चाहिए। निंदक पास रखने से गलती होने की संभावना कम होती है, इसलिए मीडिया को निंदक मानते हुए उसे पास रखना चाहिए। यह बात द संडे इंडियन पत्रिका एवं माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय द्वारा मध्यप्रदेश के विकास में मीडिया की भूमिका विषय पर आयोजित एक दिवसीय राष्ट्रीय मीडिया सेमीनार में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कही।

चौदह भाषाओं में प्रकाशित होने वाली समाचार पत्रिका द संडे इंडियन और माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय ने 18 सितंबर को भोपाल में “मध्य प्रदेश के विकास में मीडिया की भूमिका” पर एक राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया! इस सेमिनार में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और शिक्षा मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा, द संडे इंडियन के समूह संपादक ए संदीप, वरिष्ठ पत्रकार राहुल देव, उदय सिन्हा और स्टार न्यूज के संपादक दीपक चौरसिया, इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड एकाउंटेसी के निदेशक गौरव वल्लभ के अलावा मध्य प्रदेश के कई वरिष्ठ पत्रकार उपस्थित थे।

इस अवसर पर जनसंपर्क मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने कहा कि विकास पत्रकारिता के लिए विकास से जुड़ी नियमों, कानूनों एवं नीतियों का गहन जानकारी जरूरी है। इसके लिए जनसंपर्क विभाग ने यह निर्णय लिया है कि अगले एक साल तक माखनलाल विश्वविद्यालय के साथ जिलों एवं अंचलों में पत्रकारों के लिए आम जन से जुड़े कानूनों, नियमों एवं नीतियों की जानकारी देने के लिए कार्यशाला का आयोजन करेगा।

द संडे इंडियन के समूह संपादक ए संदीप ने कहा कि खोजी पत्रकारिता हो या फिर आलोचनात्मक पत्रकारिता, उसमें किसी व्यक्ति एवं संस्था पर आक्षेप लगाने के बजाय जनहित का ख्याल रखना चाहिए। उदघाटन सत्र की अध्यक्षता करते हुए वरिष्ठ पत्रकार मदनमोहन जोशी ने कहा कि मध्यप्रदेश के विकास में मध्यप्रदेश से बाहर गये पत्रकारों का योगदान भी मायने रखता है। इन दिनों पत्रकारिता में कुछ कमी आयी है, जिसपर हमें चिंतन करना चाहिए।

वरिष्ठ पत्रकार राहुल देव ने कहा कि मध्यप्रदेश में आपार संभावनाएं हैं। उन्होंने बताया कि जिस दिन प्रदेश में पानी, सड़क, बिजली जैसी मूलभूत समस्याएं खत्म हो जाएगी, उस दिन यह देश का सबसे उन्नत राज्य का दर्जा प्राप्त कर लेगा। वरिष्ठ पत्रकार उदय सिन्हा ने कहा कि मध्यप्रदेश की ब्रांडिंग करने की जरूरत है, इसके लिए आम जनता के साथ मीडिया को भी आवाज को बुलंद करते हुए दिल्ली तक पहुंचाना होगा। वरिष्ठ टीवी पत्रकार दीपक चौरसिया ने कहा कि शोर मचाने पर ही केंद्र सरकार प्रदेश के विकास की ओर ध्यान देगी, क्योंकि विकास के लिए जनता और मीडिया दोनो का जागरूक होना जरूरी है।

आईसीएआई के निदेशक गौरव वल्लभ ने विकास के आर्थिक पहलुओं को उजागर करते हुए गुणात्मक परिवर्तन पर जोर दिया। इस अवसर पर विजयदत्त श्रीधर, रमेश शर्मा, ओंकारेश्वर पांडेय, स्वाति तिवारी ने भी वक्तव्य दिया। सेमिनार में बिग एफएम 92.7 रेडियो पार्टनर रहा। कार्यक्रम का संचालन पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष पुष्‍पेंद्रपाल सिंह ने किया। दृश्य एवं श्रव्य विभाग के अध्यक्ष डॉ. श्रीकांत सिंह ने आभार व्यक्त किया।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *