#AAP बदलेगी दिल्‍ली के गांवों की तस्‍वीर

म आदमी पार्टी ने दिल्ली डायलॉग के चौथे चरण में विलेज डायलॉग के पहले हिस्से का आयोजन किया। पश्चिमी दिल्ली के नजफगढ़ में छावला के नजदीक घुमनहेरा गांव (Ghumanhera village) के सामुदायिक केंद्र में आयोजित इस कार्यक्रम में काफी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। इससे पहले आम आदमी पार्टी तीन चरणों में युवाओं, महिलाओं और बिजली-पानी पर आधारित दिल्ली डायलॉग का आयोजन कर चुकी है।

घुमनहेरा (Ghumanhera) गांव में विलेज डायलॉग से आम आदमी पार्टी ने दिल्‍ली के ग्रामीण इलाकों को लेकर अपनी योजनाओं को सार्वजनिक किया। दिल्ली में कुल 362 गांव हैं, जिसमें से 135 शहरीकृत और 227 देहाती गांव हैं। दिल्ली के गांवों में समस्याएं कई गुना हैं। किसानों को भूमि अधिग्रहण के दौरान पर्याप्त मुआवजा नहीं मिलता है। विशेष रूप से भूमि उपयोग और लाल डोरा क्षेत्रों में कई निरर्थक और पुराने व बेकार नियम-कानूनों की वजह से काफी समस्याएं हैं। ग्रामीण अर्थव्यवस्था और बुनियादी ढांचो की खराब योजना बनायी गयी है, तो शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में मौजूद बुनियादी सुविधाओं का व्यावहारिक उपयोग नहीं है।

दिल्ली डायलॉग की टीम ने दिल्ली के गांवों में जाकर बड़े स्तर पर विचार-विमर्श किया। दिल्ली डायलॉग की टीम ने देश के अग्रणी नौकरशाहों, किसानों, कानून विद और भूमि सुधार के विशेषज्ञों के साथ विचार विमर्श के बाद राष्ट्रीय राजधानी के गांवों के लिए एक व्यावहारिक और टिकाऊ योजना तैयार की है। आम आदमी पार्टी के विधायकों और उम्मीदवारों ने ग्रामीण मोर्चा और विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में गांव वासियों और पंचायतों के साथ कई बैठकों का आयोजन भी किया। विभिन्न विचारों के आदान-प्रदान के बाद दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज दिल्ली के गांवों के लिए आम आदमी पार्टी के विजन की घोषणा की।

कुल मिलाकर गांवों में सुधार को लेकर आम आदमी पार्टी का विजन प्रशासनिक सुधार, संबंधित भूमि कानूनों में सुधार, निरर्थक और पुराने कानूनों में संशोधन, बुनियादी ढांचों और सुविधाओं में परिवर्तन, खेल और लाभकारी रोजगार के माध्यम से ग्रामीण युवाओं की क्षमता का दोहन, ग्रामीण अर्थव्यवस्था को नयी मजबूती देने के अलावा गांवों की सांस्कृतिक और विरासत को बढ़ावा देने और गांवों को विशेष दर्जा देने से संबंधित है।

विलेज डायलॉग में अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के गांवों के लिए निम्नलिखित घोषणाएं की।

गांवों को विशेष दर्जा

देहाती गांवों में वार्डों की पुन: नक्काशी हो, जिससे वार्डों के साथ ग्रामीण आबादी की अलग पहचान की जा सके। हमारा उद्देश्य गांवों की पहचान बनाये रखने की है, जिससे गांव की सांस्कृतिक विरासत और उसकी धरोहर को संरक्षित किया जा सके।

दिल्ली के गांवों के विकास के बारे में निर्णय स्थानीय ग्राम सभा द्वारा लिया जाएगा। ग्राम सभा को गांव की प्राथमिकताओं के मुताबिक उपयोग करने के लिए विशेष ग्राम विकास निधि दी जाएगी।

उपयुक्त प्रशासनिक और भूमि सुधार लेकर आने की बात गयी, जिससे भूमि बिक्री और उपयोग पर प्रतिगामी और पुरानी नियमों को खत्म किया जा सकेगा।

1) बुनियादी सुविधाओं में परविर्तन (घर-घर में पाइपों से पानी, बिजली, स्कूल, अस्पताल, बस व मेट्रो सेवा)

➡ चौबीसों घंटे बिजली आपूर्ति
➡ बिजली दर आधे किए जाएंगे
➡ हर घर के लिए प्रति माह 20 हजार लीटर पानी मुफ्त। 5 साल में पानी कनेक्शन हर घर तक पहुंचाया जाएगा।
➡ जिन घरों में मीटर लगा है उन्हें रोज 700 लीटर पानी मुफ्त दिया जाएगा। यह प्रति माह 20 किलो लीटर के बराबर है। पानी हर व्यक्ति की जीवन रेखा है और यह बुनियादी जरूरत हर व्यक्ति को सम्मानपूर्वक मिलना चाहिए।
➡ आम आदमी पार्टी मुनक नहर का पानी दिल्ली के घरों के लिए लेकर आएगी।
➡ यमुना को स्वच्छ बनाया जाएगा, इसे पुनर्जीवित और फिर से सुंदर बनाने की भी योजना है।
➡ उचित मल निपटान और पानी निकासी के लिए पर्याप्त इंतजाम किये जाएंगे
➡ ग्रामीण दिल्ली में 50 नए एंबुलेंस और दमकल सेवाओं की संख्या बढ़ायी जाएगी।
➡ ग्रामीण दिल्ली में 100 नए स्कूल खोले जाएंगे। इनमें वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों की संख्या अधिक होगी।
➡ ग्रामीण दिल्ली के लिए बस और मेट्रो सेवाओं के प्रसार में वृद्धि। सभी लंबित परियोजनाओं और खरीद से संबंधित लंबित मामले जल्दी समाप्त की जाएंगी।
➡ अपशिष्ट और कचरा निपटान के लिए नए जगह बनाये जाएंगे।

2) ग्रामीण युवाओं की क्षमता का उपयोग (शिक्षा, खेलकूद नौकरी)

➡ दिल्ली के गांवों में 20 नए कॉलेज खोले जाएंगे। उनमें कौशल प्रशिक्षण पर विशेष जोर दिया जाएगा।
➡ गांव के प्रतिभाशाली युवाओं को खेलकूद में बढ़ावा देने के लिए स्पोर्टस स्टेडियम खोले जाएंगे।
➡ दिल्ली सरकार से सहायता प्राप्त और मान्यता प्राप्त कॉलेजों में लड़िकयों को प्रवेश के लिए अतिरिक्त वेटेज दिया जाएगा।
➡ अगले पांच वर्षों में युवाओं के लिए 8 लाख नयी नौकरियों का सृजन किया जाएगा।

3) ग्रामीण अर्थव्यवस्था को नयी मजबूती (किसानों को विशेष सहायता, पशुपालन, बागवानी और अधिक से अधिक पशु चिकित्सालय की स्थापना)

➡ उत्तम स्तर के बीज की आसानी से उपलब्धता, खाद और बागवानी को भी बढ़ावा दिया जाएगा।
➡ पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए विशेष सहायता। जानवरों के लिए बीमा योजना। पशु शेयर की खरीद के लिए ऋण।

4) भूमि सुधार

➡ बढ़ती जनसंख्या और उसकी जरूरतों को पूरा करने के लिए लाल डोरा का विस्तार।
➡ दिल्ली के गांवो की कोई भी जमीन ग्राम सभा की सहमति के बिना अधिग्रहित नहीं की जाएगी।
➡ गांवों में भूमि उपयोग पर अनावश्यक प्रतिबंध को हटाने के लिए केंद्र सरकार पर दबाव डाला जाएगा।
➡ दिल्ली भूमि सुधार अधिनियम की धारा 33 और 81 के कारण किसानों का अन्याय और उत्पीड़न। यह कानून किसानों को अपनी कृषि योग्य भूमि बेचने की अनुमति नहीं देती। किसानों के हक में इस कानून को हटाया जाएगा।
➡ इंदिरा गांधी के 20 सूत्री कार्यक्रम के तहत हर गांव में आवंटन की प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा। इस कार्यक्रम के तहत कृषि और आवासीय जमीन को भूमिहीन और गरीब लोगों को दिया जाना था। अभी तक इसकी शुरूआत केवल 112 गांवों में हुई है जो अभी अधूरी है। आम आदमी पार्टी इस प्रक्रिया को पूरा करेगी और भूमि का स्वामित्व आवंटी को देगी।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *