असम के बेबस आदिवासियों को सहारा दें

2014 के 31 दिसंबर की रात के आखरी पहर में सारी दुनिया नये वर्ष के स्वागत में खुशियां बांट रही थी। लोग एक दूसरे को बधाइयां देकर, दिलकश पकवान खा कर, खिलाकर, नाच रहे थे, गा रहे थे। खुशी से झूम रहे थे। मगर हम क्या क्या कर रहे थे? हमारे लिए तो वह मातम भरी रात थी।

सात दिन पहले असम में हमारे 82 निरीह, निर्दोष आदिवासी भाई आतंकवादियों की गोलियों के शिकार हो गये। तीन लाख अन्य आदिवासी भाई-बहन छोटे-छोटे बच्चे दिसंबर-जनवरी की इस कड़कड़ाती सर्दी की रात में बिना कंबल, बिना बिस्तर, बिना छत, भूखे-प्यासे भविष्य के बारे बेचैन कैसे रातें गुजारेंगे, यह कल्पना मन को तोड़ देती हैं।

इन बेकसूर, आदिवासियों की हम कैसे मदद कर सकते हैं, जरा सोचिए। इन्हे कंबल, कपडे, भोजन, बच्चो के लिए दूध, दवाई चाहिए। ‘नये साल पर तोहफे के रूप में इनके लिए अपना “उपहार” भेजने में आप योगदान दें। हिंदी साप्ताहिक “दलित आदिवासी दुनिया” द्वारा इन आदिवासियों के सहयोग के लिए “आदिवासी बचाओ फंड” का गठन किया गया है। आप का दिया हुआ एक-एक रुपया इन बेगुनाहों के जीवन में खुशी का अंबार लाएगा। इन मासूमों का नया साल मुबारक हो सकता है।

अपनी कोई भी दान राशि, चाहे छोटी सी ही क्यों न हो, इनके आंसू पोंछ कर खुशी देने के लिए बहुत बड़ा आशीष साबित होगी। आप अपनी दान राशि, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में “दलित आदिवासी दुनिया” के खाता नंबर 32259237541 में जमा कर, अपना नाम-पता हमें भेज कर रसीद प्राप्त करें। दानराशि का पूर्ण ब्यौरा, अखबार में प्रकाशित किया जाएगा।

संपर्क : मुक्ति तिर्की, पता : 148 सी, पॉकेट 6, मयूर विहार, फेस III, नयी दिल्ली 110096
मोबाइल नंबर : 9717880389, Email : adivasidunia@gmail.com
https://www.facebook.com/DalitAdivasiDunia

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *