Category: सिनेमा

0

Anaarkali Of Aarah | Official Trailer

Presenting the official trailer of Anaarkali Of Aarah. starring Swara Bhaskar, Sanjay Mishra & Pankaj Tripathi. Written & Directed by Avinash Das Produced by Sandiip Kapur & Priya Kapur Music : Rohit Sharma Lyrics...

0

राष्ट्रीय सुरक्षा कवच पहन कर खेला गया एक काला हास्य

JOLLY LLB 2 ➧ अभिषेक गोस्वामी फिल्म जॉली एल एल बी टू एक ऐसे नवोदित महत्त्वाकांक्षी वकील जगदीश्वर मिश्रा ‘जॉली’ की कहानी है, जो किसी भी कीमत पर अपने आप को नामी वकीलों की...

0

हमने यह कैसा समाज रच डाला है!!!

समझ में नहीं आ रहा कि India’s Daughter में ऐसा क्‍या है कि भारत सरकार इसे देश की नजरों से दूर रखना चाहती है। बलात्‍कारी, उसका वकील और इन जैसे ही कुछ लोग लड़कियों...

गाली-मुक्‍त सिनेमा में आ पाएगा पूरा समाज?

सिनेमा समाज की कहानी कहता है और समाज की गलियों में सहज-स्‍वाभाविक रूप से गाली की आवाजाही है। यह अच्‍छा है या बुरा, इस पर बहस करने की जगह यह मानना जरूरी है कि...

रूह से रूह तक का सफर #TheFrozenRose

➧ सैयद एस तौहीद इंसान दुनिया में जिस किसी को मोहब्‍बत में जान से ज्यादा अजीज बना लेता है, परवरदिगार उसे उस जैसा बना दिया करता है। खुदा की दूसरी दुनिया के बाशिंदों को...

उलझन से उलझन को जोड़ती गुलजार की अंगूर

♦ सैयद एस तौहीद शेक्सपियर की रचनाओं पर फिल्में बनाने में विशाल भारद्वाज के प्रेरणास्रोत यकीनन गुलजार थे। गुलजार ने बार्ड की कृति ‘comedy of Errors’ पर ‘अंगूर’ जैसी फिल्म बनायी। समरूपी पहचान के...

रोने वाले ऊंट की कहानी #Weeping Camel

➧ राहुल सिंह दुनिया अविश्वसनीय से लगनेवाले किस्सों से इस कदर लबरेज है कि अनजाने अगर उसके पास आप पहुंच जाएं तो साझा करने की हसरत से दिल बेचैन हो उठता है। ‘दि स्टोरी...

0

आप सुरेंद्र उर्फ बांबे सहगल को जानते हैं?

♦ सैयद एस तौहीद किसी ने नहीं सोचा होगा कि वकालत की डिग्री रखने वाले सुरेंद्रनाथ उर्फ सुरेंद्र हिंदी सिनेमा के बड़े स्टार बनेंगे। लेकिन ऊपर वाला उनमें एक अलग मिजाज देख रहा था।...

0

मैं हूं अकेली अलबेली, तू सहेली मेरी बन जा

♦ सैयद एस तौहीद हिंदी सिनेमा का स्वर्णिम युग शक्ति सामंत की फिल्‍मों के बिना पूरा नहीं हो सकता। उनका यह विश्वास था कि ‘कथा’, ‘गीत-संगीत’ और ‘रुमानियत’ का फलसफा किसी फिल्म को हिट...

0

आज फैज की लाइनों के मायने बदल गये हैं

♦ सैयद एस तौहीद जिंदगी की कीमत बदलते वक्त के साथ जैसे हाशिये पर चली गयी है। फिर चाहे वो आस-पास या पड़ोस में हुई कोई जानी या अनजानी मौत हो या जापान के...