Category: असहमति

0

अवाॅर्ड आप रखिए, मैं अपनी इज़्ज़त रखता हूं

उस्ताद इमरत खां ने पद्मश्री अवार्ड को ठुकराते हुए भारत सरकार को जो पत्र लिखा है, वह एक बड़े कलाकार की पीड़ा का दस्तावेज़ बन गया है। वेदना, व्यंग्य और कलाकार के आत्मस्वाभिमान में...

0

जहां जाति नहीं, वहां भी वह चिपका दी जाती है

♦शशिभूषण छत्तीसगढ़ के बस्तर में काम कर रही सामाजिक कार्यकर्ता बेला भाटिया कुछ दलित बौद्धिकों की नज़र में सवर्ण महिला हैं। महानगरों में टिके हुए इन चिंतकों को इससे फ़र्क़ नहीं पड़ता कि बेला...

0

तुम बिल्कुल हम जैसे निकले!

➧ आकार पटेल तुम बिल्‍कुल हम जैसे निकले अब तक कहां छिपे थे भाई वो मूरखता, वो घामड़पन जिसमें हमने सदी गंवायी आखिर पहुंची द्वार तुम्‍हारे अरे बधाई, बहुत बधाई! ➧ फहमीदा रियाज़ आम...

0

संसद में भी बलात्‍कारी मानसिकता मौजूद है

♦ जावेद अख्‍तर सर, सवाल यह है, गुस्‍सा इस बात पर है कि उस आदमी का इंटरव्‍यू क्‍यों लिया गया? गुस्‍सा इस बात पर है कि उस आदमी ने इतनी गलत बातें क्‍यों की?...

0

मयंक गांधी ने बाहर की अंदर की बात

आम आदमी पार्टी की पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी से योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को बाहर किये जाने का फैसला जिस बैठक में लिया गया है, उस बैठक के मिनिट्स पार्टी के वरिष्‍ठ नेता मयंक...

जो सच सच बोलेंगे, मारे जाएंगे!

असहमत होने पर IBN7 ने पंकज श्रीवास्‍तव को निकाला जो इस पागलपन में शामिल नहीं होंगे, मारे जाएंगे। कठघरे मे खड़े कर दिये जाएंगे, जो विरोध में बोलेंगे। जो सच सच बोलेंगे, मारे जाएंगे।...

3

धार्मिक घृणा और यौन सनक कला नहीं!

पेरिस में कार्टून-पत्रिका पर हुए हमले की जायज निंदा के बाद का दूसरा नजरिया ये है कि पत्रिका इस्‍लाम विरोध की अपनी मुहिम में लंबे समय से मुब्तिला थी। हमले के फौरन बाद के...

1

ईश्‍वर नहीं है, लेकिन अल्‍लाह है!

जो तथाकथित धर्मों की आड़ में खड़े होकर त्रिशूल, तलवार, बम, गोली से इस दुनिया को बेजुबान गुलामों की दुनिया में बदल देना चाहते हैं वे कभी कामयाब नहीं होंगे। जान देकर भी सच,...

0

कारपोरेट की है ये अध्‍यादेश सरकार

♦ प्रभाकर चौबे केंद्र सरकार ने इन सात महीनों में ताबड़तोड़ अध्यादेश जारी कर दिया है। लगता है यह सरकार “अध्यादेश सरकार” के नाम पर प्रसिद्धि पाएगी। 1978 में इंदिरा गांधी ने तत्कालीन जनता...