Category: मीडिया मंडी

आवाजाही की खबरों से अलग मीडिया को बीच बहस में लाने की एक कोशिश। कॉरपोरेट मीडिया के बरक्‍स कॉपरेटिव और सोशल मीडिया की वकालत।

0

जानें पहली महिला पत्रकार एनी न्‍यूपोर्ट को

➧ अनुपमा आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है। दुनिया भर में महिलाओं के अधिकार, उनकी चुनौतियों और संभावनाओं पर बात होगी। साथ ही अलग-अलग विधाओं में सक्रिय रही महिला नायकों को याद करते हुए उनके...

जो सच सच बोलेंगे, मारे जाएंगे!

असहमत होने पर IBN7 ने पंकज श्रीवास्‍तव को निकाला जो इस पागलपन में शामिल नहीं होंगे, मारे जाएंगे। कठघरे मे खड़े कर दिये जाएंगे, जो विरोध में बोलेंगे। जो सच सच बोलेंगे, मारे जाएंगे।...

0

एमजे अकबर के अधोपतन को यहां से देखें

♦ मुकेश कुमार एक अच्छा खासा पत्रकार और लेखक सिर्फ सत्ता प्रतिष्ठान का अंग बनने के प्रलोभन में किस तरह प्रतिक्रियावादी हो जाता है, इसकी मिसाल हैं एमजे अकबर। दस जनवरी के टाइम्स ऑफ...

1

ईश्‍वर नहीं है, लेकिन अल्‍लाह है!

जो तथाकथित धर्मों की आड़ में खड़े होकर त्रिशूल, तलवार, बम, गोली से इस दुनिया को बेजुबान गुलामों की दुनिया में बदल देना चाहते हैं वे कभी कामयाब नहीं होंगे। जान देकर भी सच,...

0

एक ट्वीट ने संपादक को संघी बना दिया

♦ जगदीश्‍वर चतुर्वेदी उत्तर प्रदेश सरकार ने “पीके” को मनोरंजन कर से मुक्त करने का फैसला क्या लिया, गोया संघियों पर बिजली गिर पड़ी है। अपनी संघी पक्षधरता के लिए ख्यात दैनिक जागरण के...

0

मोदी और हसन रूहानी में किसे चुनेगी “टाइम”

प्रकाश के रे ♦ 2012 के ‘टाइम 100’ के मतदान में नरेंद्र मोदी की लगातार बढ़त को लांघते हुए एनॉनमस ने भारी अंतर से पहला स्थान ले लिया था। यह करामात बस चंद घंटों में कर दिखाया गया था। 2012 के ‘वर्ष का व्यक्ति’ के मतदान में हैकरों ने मजा लेते हुए उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन को पहले स्थान पर ला दिया और साथ ही अगले 13 स्थान भी अपने हिसाब से निर्धारित कर दिये। कुछ रिपोर्टों में इस साल के अभी चल रहे मतदान में मिली साइरस की बढ़त के पीछे भी इनका हाथ माना जा रहा है लेकिन हमें यह भी याद रखना चाहिए कि साइरस पूरे साल भर चर्चा में रही हैं, जिसका लाभ उन्हें मिल सकता है।

“साहेब चाहते हैं उस लड़की का सब कुछ उन्‍हें पता हो” 1

“साहेब चाहते हैं उस लड़की का सब कुछ उन्‍हें पता हो”

कोबरापोस्‍ट-गुलेल ♦ खोजी वेबसाइट गुलेल और कोबरा पोस्‍ट ने एक साझा स्टिंग में बीजेपी के पीएम उम्‍मीदवार नरेंद्र मोदी का दाहिना हाथ माने जाने वाले अमित शाह का एक कारनामा उजागर किया है। अमित शाह ने 2009 में एक आईपीएस अधिकारी जीएस सिंघल को माधुरी नाम की एक लड़की की जासूसी करने का मौखिक आदेश दिया। सिंघल वही अफसर है, जो इशरत जहां फर्जी इनकाउंटर मामले में जेल से इन दिनों जमानत पर रिहा है। सिंघल ने माधुरी की जासूसी के मामले में कई टेप सीबीआई को सौंपे हैं, जिनमें अमित शाह के साथ उसकी बातचीत भी शामिल है। इसमें अमित शाह किसी “साहेब” की इच्‍छा से माधुरी की जासूसी करने का आदेश सिंघल को दे रहे हैं। अब सीबीआई को इस यह पड़ताल करनी है कि आखिर यह “साहेब” कौन है।

इंडिया टुडे ने गलत तस्‍वीर के लिए माफी मांगी 2

इंडिया टुडे ने गलत तस्‍वीर के लिए माफी मांगी

अभिषेक श्रीवास्‍तव ♦ “इंडिया टुडे” ने मोदी की रैली वाली खबर में 4 नवंबर 2012 की कांग्रेस रैली की फोटो लगाने पर अपनी वेबसाइट पर माफी मांग ली है। स्‍नैपशॉट डाल रहा हूं माफी समेत। खबर और माफी के पेज का लिंक ये रहा: www.indiatoday.intoday.in। हमने इंडिया टुडे की इस गलती को रेखांकित किया था (यहां देखें)। अब जब इंडिया टुडे ने माफी मांग ली है, मैं इंडिया टुडे के इस माफीनामे का स्‍वागत करता हूं। पाठकों के फीडबैक पर खुद को दुरुस्‍त करने की परंपरा जो लगभग खत्‍म हो चली थी, उसे इंडिया टुडे ने बहाल किया है।

दूरदर्शन के भ्रष्‍ट तंत्र ने रचा चरित्रहनन का चक्रव्‍यूह 6

दूरदर्शन के भ्रष्‍ट तंत्र ने रचा चरित्रहनन का चक्रव्‍यूह

इन दिनों अखबारों में दूरदर्शन के ए‍क अधिकारी के खिलाफ ये खबरें लगातार छप रही हैं कि उन्‍होंने अपनी एक महिला कर्मी के साथ यौन दुर्व्‍यवहार किया है। यह भी कि प्रथमदृष्‍टया उन पर...

खुद के कार्टूनों में छिपा है मीडिया का लोकतंत्र 0

खुद के कार्टूनों में छिपा है मीडिया का लोकतंत्र

♦ विनीत कुमार आउटलुक न्यूजरुम पर बना ये कार्टून अपने आप में कितना कुछ समेटे हुए है। संपादक विनोद मेहता के हाथ में चाबुक है, बाकी लोग भी अपनी-अपनी जगह पर अस्त-व्यस्त और उलझे...