Category: फोटो

पत्रकार संगठन ने किया घूस का स्टिंग ऑपरेशन 3

पत्रकार संगठन ने किया घूस का स्टिंग ऑपरेशन

डेस्‍क ♦ प्रयाग महिला विद्यापीठ में एमए हिंदी की मौखिक परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों से पांच-पांच सौ रुपये रिश्वत लेते हुए एक अध्‍यापिका कैमरे में कैद हो गयी है। स्टिंग जेयूसीएस के पत्रकारों ने किया। स्टिंग वीडियो जारी करते हुए जेयूसीएस के सदस्‍यों राघवेंद्र प्रताप सिंह, शाहनवाज आलम और राजीव यादव ने उपरोक्त परीक्षा को तत्काल रद्द करने और कालेज प्रशासन पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। जेयूसीएस ने इस बाबत यूजीसी और राज्यपाल को भी तथ्यों को कार्यवाही के लिए पत्रक भेजा है। इस वीडियो टेप को 1 जून को 10 बजकर पचपन मिनट से 11 बजकर दस मिनट के बीच सूट किया गया। इस टेप में प्रयाग महिला विद्यापीठ की एक अध्यापिका और एक बाबू पांच-पांच रुपये के नोट ले रहे हैं।

नई दुनिया का ब्‍लंडर : राहुल गांधी को राजीव गांधी लिखा 4

नई दुनिया का ब्‍लंडर : राहुल गांधी को राजीव गांधी लिखा

डेस्‍क ♦ आज नई दुनिया ने एक ब्‍लंडर किया है। दिल्‍ली, इंदौर सहित कई शहरों से प्रकाशित होने वाले नई दुनिया के दिल्‍ली के संस्‍करण में सातवें नंबर पन्‍ने पर एक तस्‍वीर छपी है। तस्‍वीर में यूपीए सरकार के एक साल पूरे होने पर रिपोर्ट कार्ड जारी करने वाली सभा में कांग्रेसी लीडरों की कतार है। इसमें यूपीए सरकार के मौजूदा मंत्रियों के साथ राहुल गांधी भी हैं, लेकिन उनका नाम राहुल गांधी की जगह राजीव गांधी छपा हुआ है। यह राहुल गांधी में राजीव गांधी की छवि देखने का मसला है, या डेस्‍क की लापरवाही से हो गयी एक सामान्‍य सी गलती – इस बारे में हम कुछ नहीं कह सकते। सिवा इसके कि इस गलती को हम वर्चुअल स्‍पेस के लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं।

परंपराओं की छांव में कला की आहट 1

परंपराओं की छांव में कला की आहट

विनीत उत्पल ♦ रचनात्मकता और कलात्मकता किसी परिचय का मोहताज नहीं होता। हां, यह जरूर है कि एक प्लेटफार्म मिलने से उन्हें एक पहचान मिलती है। सिंधु घाटी सभ्यता से लेकर गंगा-जमुनी सभ्यता में जितनी संस्कृति पनपी और विकास हुआ, उसे नकारा नहीं जा सकता है लेकिन सरकार या सरकारी छांव में जो पले-बढ़े और जो भांड-चारण हुए, उनकी योग्यता कहीं ज्यादा आंकी गयी। सृजन और इससे जुड़ी कला के बारे में यह बात सौ फीसद सही है। पिछले दिनों ललित कला अकादमी की कलावीथियों में पूर्वी उत्तरप्रदेश, बिहार और झारखंड के 43 कलाकारों के कामों से रूबरू हो कर दिल्ली के कलाकार और समीक्षक चौंक उठे।

सौंदर्य की नदी नर्मदा पर जादू टोने का अमावस 4

सौंदर्य की नदी नर्मदा पर जादू टोने का अमावस

पुष्‍यमित्र ♦ वहां तीन दिन गुजरे और तीनों दिन सुबह नर्मदा स्नान और शाम को तटों की खूबसूरती निहारते हुए गुजरे। यह एक अनूठा अनुभव था। ऐसा प्रतीत हो रहा था कि उस दौर में जहां विकास के नाम पर हर खूबसूरत चीज पर कालिख पोती जा रही है, वहां कम से कम कोई तो ऐसी जगह है जहां का माहौल शांत, सुंदर और स्निग्ध है। मगर जिस दिन लौटना था, उस सुबह अनायास निगाहों के सामने ऐसा नजारा आ गया कि उसने तीन दिनों तक मन पर पड़ी पवित्र छाप को मटियामेट करके रख दिया। ठीक उसी तरह जैसे एक सुंदर चेहरे पर किसी शैतान ने तेजाब फेंक दिया हो।

एफटीवी पर रोक सरकार की रूढ़ीवादी सोच की मिसाल है 8

एफटीवी पर रोक सरकार की रूढ़ीवादी सोच की मिसाल है

डेस्‍क ♦ फैशन की सरहद कपड़े से तय होती है। फिल्‍मों में राजकपूर निहायत ही साहसी माने गये, जब उन्‍होंने बॉबी में डिंपल को बिकनी में दिखाया, राम तेरी गंगा मैली में मंदाकिनी की छाती दिखायी और मेरा नाम जोकर में सिमी ग्रेवाल को पूरी तरह नग्‍न दिखाया। सेंसर बोर्ड को इन दृश्‍यों पर कोई आपत्ति नहीं थी और ये फिल्‍में आज भी दूरदर्शन पर दिखायी जाती हैं। सिनेमा में नग्नता के साथ कथा का तर्क दिया जाता है, लेकिन फैशन में महज प्रदर्शन का। हम जानते हैं कि फैशन शो पहनावे की चल रही रवायत के हिसाब से नहीं होता। वह भविष्‍य में पहनावे की पटकथा होता है। लिहाजा हम मानते हैं कि फैशन टीवी पर बैन नहीं लगना चाहिए।

एक कोने में गुमसुम, रजिया सुल्‍तान का मजार 4

एक कोने में गुमसुम, रजिया सुल्‍तान का मजार

ब्रजेश कुमार झा ♦ चांदनी चौक के नजदीक तुर्कमान गेट से एक पतला रास्ता बुलबुली खान की तरफ जाता है। यही वह इलाका है जहां रजिया सुल्तान यानी इतिहास की पहली महिला सुल्तान को दफनाया गया था। आज इस कब्रगाह की हालत देखेंगे तो महिला दिवस का डंका बजाने वालों की हकीकत समझ में आएगी। देखिए, देश के सबसे बड़े ओहदे पर महिला है। सरकार के भी कान खींच-खींचकर फिलहाल उसे एक महिला ही चला रही है। उस पर से दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का रुतबा देख लें। इनके राज में इल्तुतमिश की बेटी और एक जमाने की क्रांतिकारी महिला की कब्र उपेक्षित है। वह एक गौरवशाली इतिहास लिये लेटी है। अपनी कब्र पर एक छत को तरसती हुई।

कैमरे में कैद कुछ तस्‍वीरें, जो लोकतंत्र का हाल बताती हैं! 12

कैमरे में कैद कुछ तस्‍वीरें, जो लोकतंत्र का हाल बताती हैं!

डेस्‍क ♦ यह अमेठी की घटना है। यहां से राहुल गांधी सांसद हैं। यहां एक आदमी का क़त्‍ल हुआ। पुलिस वालों ने इस मामले में पूछताछ के लिए उसी बीवी को थाने बुलाया। पूछताछ इस अंदाज़ में की कि बताओ तुम्‍हारे आदमी की हत्‍या किसने की? क्‍या तुमने की? महिला सफाई देती रही, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। पुलिस ने महिला को पीटना शुरू कर दिया। वहीं एक महिला कांस्‍टेबल भी खड़ी थी। महिला दलित जाति से आती है। इस घटना को उजागर करने वाले स्वतंत्र पत्रकार ने कहा कि वह पुलिस वाले की करतूत को कैमरे में कैद कर रहा था ताकि उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सके। इस वजह से वह ऐन वक्त पर महिला की मदद नहीं कर सका। दरअसल उस टेप की वजह से ही कैलाश द्विवेदी नाम के इस पुलिस वाले को बर्खास्त किया गया है।

क्‍या कर रहा है NBT डॉट कॉम का संपादक? 16

क्‍या कर रहा है NBT डॉट कॉम का संपादक?

रीतेश ♦ वैसे ये तस्वीरें पहले भी यहां-वहां चिरकुट तरीके से दिखी हो सकती हैं लेकिन इसे एक जगह जुटाकर और सजाकर इस कैप्शन के साथ छापना कि लो उठ गयी स्कर्ट और देख लो कैमरे ने क्या कैद किया है, इस गैलरी में छपी छह महिलाओं के लिए अपमानजनक है। नवभारत टाइम्स की साइट पर फोटो धमाल के नाम पर ऐसी-ऐसी तस्वीरें गैलरी में छुपा-छुपा कर लगायी गयी हैं जिन्हें देखने की इजाजत अब कुछ सर्च इंजन भी नहीं देती। एक अखबार की साइट पर ख़बर या शिक्षा देने का काम होता है। सवाल ये उठता है कि ये गैलरी किस दर्जे में रखी जाए।

जर्मनी में उदय प्रकाश : दो करतबी तस्‍वीरें… 10

जर्मनी में उदय प्रकाश : दो करतबी तस्‍वीरें…

डेस्‍क ♦ उदय प्रकाश हमारे समय के एक विलक्षण कथाकार हैं। उनकी मशहूरियत का अंदाज़ा लगा पाना आसान नहीं। वे उन लेखकों की पांत के संभवत: अंतिम स्‍तंभ हैं, जो फ्रीलांसर की तरह जीवन जीने में भरोसा रखते हैं। बंधी बंधायी लीक उनका स्‍वभाव नहीं है और यात्रा के बग़ैर उन्‍हें चैन नहीं हैं। वे घूमते हैं। सरहद के भीतर। सरहद के पार। इन दिनों वे जर्मनी की यात्रा पर हैं। उनके एक जासूस प्रशंसक ने वहां से उनकी दो करतबी तस्‍वीर हमें भेजी है। दोनों तस्‍वीर मोहल्‍ला लाइव के पाठकों की नज़र।

2010 के कैलेंडर में योग कर रहे हैं श्‍वान, देखिए तो सही 0

2010 के कैलेंडर में योग कर रहे हैं श्‍वान, देखिए तो सही

रोचक कुमार ♦ dan और alejandra borris ने मिल कर 2010 का यह कैलेंडर तैयार किया है। इसे तैयार करने में alegandra ने श्‍वानों को योग मुद्राएं सिखायी हैं। सारी योग मुद्राएं सही तरीके से तो मनुष्य नहीं कर पाते, फिर श्‍वानों के लिए तो यह और भी मुश्किल था। बाद का काम फोटोशॉप ने कर दिया है। अमेरिका की योग प्रशिक्षक suzi teitelman ने कभी कल्पना की थी कि वह अपने पालतू श्‍वान को योग सिखाएंगी। वह जब योग करती थीं तो उनका श्‍वान उनकी नक़ल करता था। 2010 का यह कैलेंडर धड़ल्ले से बिक रहा है और लोग इसे पसंद कर रहे हैं। अगर आप श्‍वान प्रेमी हैं, तो भी दुखी न हों, क्योंकि dan और alajandra morris फोटोशॉप से सब हासिल किया है।