Tagged: Pankaj Tripathi

0

Anaarkali Of Aarah | Official Trailer

Presenting the official trailer of Anaarkali Of Aarah. starring Swara Bhaskar, Sanjay Mishra & Pankaj Tripathi. Written & Directed by Avinash Das Produced by Sandiip Kapur & Priya Kapur Music : Rohit Sharma Lyrics...

जैसलमेर की तपती धरती पर मुझसे कहा गया, मैं सुल्‍तान हूं 1

जैसलमेर की तपती धरती पर मुझसे कहा गया, मैं सुल्‍तान हूं

पंकज‍ त्रिपाठी ♦ >दूसरे दिन मुझे कलकत्ते से जैसलमेर जाना था, किसी और शूटिंग पर। असमंजस की स्थिति थी। घनघोर दुविधा। मुकेश से कहा कि सीन भेज दो, मैं यहीं से ऑडिशन कर के भेज देता हूं। मुकेश नहीं माना। मुझे जाना पड़ा। अगली सुबह मैं मुंबई में था। दोपहर 12 बजे अनुराग के ऑफिस। एक बजे से ऑडिशन का सिलसिला शुरू हुआ और दो-तीन सीन करने के बाद पीछे से आवाज आयी, “कैसे हैं आप???” मैं हक्का बक्का … कुछ देर के लिए ऑक्सीजन रहित कमरे में प्रचुर ऑक्सीजन फैल गया। वजह? ब्लैक फ्राइडे, देव डी, पांच, गुलाल, नो स्मोकिंग, सत्या, शूल और द रिटर्न ऑफ हनुमान … सबके सब एक साथ मेरे सामने प्रकट हो गये। उस ऑक्‍सीजन का नाम अनुराग कश्‍यप था।

उस टेलर की तलाश अब भी है जिसने कांचा के कपड़े सिले थे 12

उस टेलर की तलाश अब भी है जिसने कांचा के कपड़े सिले थे

रवीश कुमार ♦ मांडवा। बच्चन की जुबान पर जब मांडवा उच्चरित होता था, तो लगता था कि भारत छोड़ो, मांडवा में ही बसो। अपने गांव के बाद मांडवा का ही नाम लेने में मजा आता था। लगता था काश मांडवा में पैदा हुए होते। करण मल्होत्रा ने मांडवा को तो रखा मगर उसे पहचान की पटरी से उतार दिया। वो सिर्फ मुंबई के नक्शे के बाहर का गांव है, जहां पुलिस मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के डर से नहीं पहुच पाती। खुद भी नहीं जाती और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को भी जाने के लिए नहीं कहती कि जाकर देखो मांडवा में क्या हो रहा है।

किरदारों ने असर पैदा कर दिया! अदभुत है अग्निपथ! 2

किरदारों ने असर पैदा कर दिया! अदभुत है अग्निपथ!

संदीप नाइक ♦ अग्निपथ करण जौहर की एक बढ़िया फिल्म है। न सिर्फ उन्होंने अपने पिता को एक बेहतरीन तोहफा दिया बल्कि कसा हुआ निर्देशन, प्रभावी डायलाग, फिल्मांकन, दृश्य और सबसे बढ़िया कलाकारों का चयन और उनसे पूरा काम लेने की अदभुत कला करण के पास ही हो सकती थी। यह फिल्म सिर्फ फिल्म नहीं, बल्कि एक विचित्र समय में मानक, उपमाओं और बिंबों को बाइस्कोप के जरिये देखने का मौका है। जहां ऋषि कपूर अपने जीवन के श्रेष्ठ रोल में है, वहीं इस वर्ष के सारे खलनायको के पुरस्कार संजय दत्त ले जाएंगे।

आप जितना डिजर्व करेंगे, उतना जरूर मिलेगा 0

आप जितना डिजर्व करेंगे, उतना जरूर मिलेगा

पंकज त्रिपाठी ♦ मैंने कुछ दिन पहले ही कार खरीदी है। थोड़ा वक्त निकाल कर मैं अपनी पत्नी के संग जुहू चौपाटी घूमने निकला। वहां ‘पाउडर’ के प्रमोशन के लिए मेरे बड़े-बड़े होर्डिंग लगाये गये हैं। यह देखकर कितनी खुशी हुई, शब्दों में बयां नहीं कर सकता। आप कल्पना कर सकते हैं कि पांच वर्ष पहले मैं लोगों से रास्ता पूछते-पूछते जिस प्लेस पर पहुंचा था, वहां आज मेरे बड़े-बड़े होर्डिंग लगे हुए हैं। शायद इसीलिए मुंबई को मायानगरी कहते हैं!

समीर दा एक जिंदादिल इंसान थे, हमेशा हंसते रहते थे 0

समीर दा एक जिंदादिल इंसान थे, हमेशा हंसते रहते थे

पंकज त्रिपाठी ♦ केरल में शूटिंग पैकअप होने के बाद अचानक तेज बारिश हुई। मुझे जिस गाड़ी में जाना था, वो कीचड़ में अटक गयी। समीर दादा ने देख लिया। कहा, मेरी गाड़ी से चल। रात के अंधेरे में हम दोनों एक गाड़ी में रबड़ के जंगलों के अंदर से गुजर रहे थे। ढेर सारी बातें हुई उस यात्रा में। अपनी कई फिल्‍मों के बारे में बात की। कहा था कि उनका कोई सहायक आर्ट डायरेक्‍टर बनता है तो बेइंतहां खुशी होती है।

रावण आज पर्दे पर, रवीश कुमार की स्‍पेशल रिपोर्ट भी 1

रावण आज पर्दे पर, रवीश कुमार की स्‍पेशल रिपोर्ट भी

डेस्‍क ♦ सब जानते हैं कि रावण अभिषेक बच्‍चन और ऐश्‍वर्या राय की फिल्‍म है। लेकिन हमारे लिए दरअसल ये फिल्‍म देशज पृष्‍ठभूमि से आये उन कलाकारों की है, जिन्‍होंने स्‍टार उपस्थितियों के बीच अपनी शानदार छाप छोड़ी है। मुंबई में इसका प्रीमियर देख कर आये फिल्‍म क्रिटिक अजय ब्रह्मात्‍मज कल शाम दिल्‍ली के प्रेस क्‍लब में बोल रहे थे, अभिषेक बच्‍चन और ऐश्‍वर्या जैसी प्रतिभाओं के बावजूद ये फिल्‍म उन कलाकारों के नाम जानने की उत्‍सुकता आपमें भरती है – जिनका असर लेकर आप सिनेमा हॉल से बाहर आते हैं। पंकज त्रिपाठी उनमें से एक हैं। पंकज त्रिपाठी ने रावण में गुलाबो की भूमिका की है। मोहल्‍ला लाइव में गुलाबो (पंकज त्रिपाठी) की कुछ तस्‍वीरें हम जारी कर रहे हैं।