Tagged: prashant bhushan

0

तुम बिल्कुल हम जैसे निकले!

➧ आकार पटेल तुम बिल्‍कुल हम जैसे निकले अब तक कहां छिपे थे भाई वो मूरखता, वो घामड़पन जिसमें हमने सदी गंवायी आखिर पहुंची द्वार तुम्‍हारे अरे बधाई, बहुत बधाई! ➧ फहमीदा रियाज़ आम...

0

मयंक गांधी ने बाहर की अंदर की बात

आम आदमी पार्टी की पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी से योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को बाहर किये जाने का फैसला जिस बैठक में लिया गया है, उस बैठक के मिनिट्स पार्टी के वरिष्‍ठ नेता मयंक...

सुनो प्रधानमंत्री, कॉरपोरेट के हाथों में खेलना बंद करो! 3

सुनो प्रधानमंत्री, कॉरपोरेट के हाथों में खेलना बंद करो!

डेस्‍क ♦ हम आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, महाराष्ट्र, उड़ीसा और पश्चिम बंगाल राज्यों के आदिवासी आबादीवाले इलाकों में भारत सरकार द्वारा सेना और अर्धसैनिक बलों के साथ एक अभूतपूर्व सैनिक हमला शुरू करने की योजनाओं को लेकर बेहद चिंतित हैं। इस हमले का घोषित लक्ष्य इन इलाकों को माओवादी विद्रोहियों के प्रभाव से मुक्त कराना है, लेकिन ऐसा सैन्य अभियान इन इलाकों में रह रहे लाखों निर्धनतम लोगों के जीवन और घर-बार को तबाह कर देगा तथा इसका नतीजा आम नागरिकों का भारी विस्थापन, बरबादी और मानवाधिकारों का उल्लंघन होगा। विद्रोह को नियंत्रित करने की कोशिश के नाम पर भारतीय नागरिकों में से निर्धनतम लोगों का संहार प्रति-उत्पादक और नृशंस दोनों है।