Tagged: prophet muhammad

0

जाहिलों पर क्‍या कलम खराब करना!

➧ नदीम एस अख्‍तर मित्रगण कह रहे हैं कि मालदा पर मैं क्यों नहीं लिख रहा। मेरा जवाब है कि नहीं लिखूंगा। भीड़ की शक्ल में दानव की जेहनियत लिए उन जाहिलों पर अपनी...

1

ईश्‍वर नहीं है, लेकिन अल्‍लाह है!

जो तथाकथित धर्मों की आड़ में खड़े होकर त्रिशूल, तलवार, बम, गोली से इस दुनिया को बेजुबान गुलामों की दुनिया में बदल देना चाहते हैं वे कभी कामयाब नहीं होंगे। जान देकर भी सच,...