Tagged: triveni media

दलाल पत्रकारों की न सुनें, वीओआई कर्मियों का साथ दें 30

दलाल पत्रकारों की न सुनें, वीओआई कर्मियों का साथ दें

डेस्‍क ♦ वॉयस ऑफ इंडिया न्यूज चैनल मीडिया में टाइटैनिक जहाज की तरह आया। आज वो उसी टाइटैनिक की तरह डूब रहा है। किसी ने कल्‍पना भी नहीं की होगी की यहां के पत्रकारों को भूखे रहने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। जो दूसरों के हक़ की बात करते हैं, आज उनका ही हक़ मारा जा रहा है। वॉयस ऑफ इंडिया के पत्रकार अब भी हड़ताल पर है। कई महीनों से बकाया अपनी तनख्वाह पाने के लिए वे धरने पर बैठे हैं। वीओआईकर्मियों ने तब तक धरने पर बैठने का फैसला किया है, जब तक उन्हें सारे पैसे न मिल जाएं। कर्मचारियों के इस क़दम से मालिकान हर चतुराई निबटने की कोशिश कर रहे हैं।